शोरूम में जननायक

अनूप मणि त्रिपाठी का पहला व्यंग्य संग्रह “शोरूम में जननायक” में लगभग तीन दर्जन व्यंग्य है. व्यंग्य संग्रह में भूमिका नहीं …

इतिहासबोध से वर्तमान विसंगतियों पर प्रहार : सागर मंथन चालू है

व्यंग्य की दुनिया में चार पीढ़ी एक साथ सक्रिय है. यह व्यंग्य क्षेत्र के लिए शुभ संकेत है. मैं व्यक्तिगत …

कुण्डलिया संग्रह :”शिष्टाचारी देश में “

कुण्डलिया संग्रह – शिष्टाचारी देश में रचनाकार – श्री तोताराम शर्मा उर्फ़ तोताराम ‘सरस’ प्रकाशक – संवेदना प्रकाशन , गली-2, …