अभिनंदन की शौर्य गाथा

घर लौट के कैसा लगता है, पूछो उस वीर जवान से,  शेरों की भांति निडर खड़ा रहा, नहीं धमका पाक़िस्तान …

तुमको हिंदी आता?

एक लड़का बोला – नहीं, आप तो मुझे साउथ अफ्रीकन जैसे दिख रहे हो। और जहाँ तक भाषा की बात हमारी हिंदी आपसे बेहतर है।
जैसे को तैसा!