मेरा कुछ मुझसे छूट गया है

  ।।मेरा कुछ मुझसे छूट गया।। ------------------------------------- मेरा कुछ मुझसे रूठ गया || कुछ मुझसे पीछे छूट गया || शाखों से गिरे जो पत्ते थे | जो हमने किए इकट्ठे थे | कुछ…

Continue Reading

होली गीत

मधुर मधुर कभी मंद मंद,, मधुमासी पवन बलखाय रही है... रतिके उर में मादकता से,, काम को भी सुलगाय रही है..... होली में कृष्णा की ढिठाई,, मृदुता से राधे निभाय रही है..... प्रीत…

Continue Reading
Close Menu