भूकंप के झटके

ग्रामीण क्षेत्रो मे भुकंपो पर भारी पङे अफवाहो के झटके....... पिछले दिनो नेपाल के काठमांडू मे आऐ भूकंप के झटको का असर भारत के कुछ राज्यो मे भी महसुस किए गए। उत्तर प्रदेश,…

Continue Reading भूकंप के झटके

देश भक्त/पार्टी भक्त

एक पार्टी से दूसरी पार्टी के कार्यालय में फोन पर बातचीत~ -"अरे, जनता बहुत हल्ला मचा रही है ऊँट पुल के निर्माण के लिए अब इसे टालना मुश्किल हो रहा है।" -"हुज़ूर, चुनाव…

Continue Reading देश भक्त/पार्टी भक्त

बचपन-बुढ़ापा थे कभी वारिश… अब लावारिश…

‘‘ लोे जी जमकर खुशियां मनाओं कान्हा घर आया है आपके।’’ नर्स की आवाज सुन सब नाचने लगे।कान्हा के स्वागत में थाली बजाकर पड़ोसियों को सूचना दी गई।लड्डू बांटे गए अभी भी थोड़े…

Continue Reading बचपन-बुढ़ापा थे कभी वारिश… अब लावारिश…

रेल यात्रा

रेल विभाग के मंत्री कहते हैं कि भारतीय रेलें तेजी से प्रगति कर रही हैं। ठीक कहते हैं। रेलें हमेशा प्रगति करती हैं। वे बम्‍बई से प्रगति करती हुई दिल्‍ली तक चली जाती…

Continue Reading रेल यात्रा

साली आधी घरवाली

 शादी हुई ... दोनों बहुत खुश थे..! स्टेज पर फोटो सेशन शुरू हुआ..! ... दूल्हे ने अपने दोस्तों का परिचय साथ खड़ी अपनी साली से करवाया ~ "ये है मेरी साली, आधी घरवाली"…

Continue Reading साली आधी घरवाली

नया साल (व्यंग्य)

साधो, बीता साल गुजर गया और नया साल शुरू हो गया। नए साल के शुरू में शुभकामना देने की परंपरा है। मैं तुम्हें शुभकामना देने में हिचकता हूँ। बात यह है साधो कि…

Continue Reading नया साल (व्यंग्य)

पिटने-पिटने में फर्क(व्यंग्य)

(यह आत्म प्रचार नहीं है। प्रचार का भार मेरे विरोधियों ने ले लिया है। मैं बरी हो गया। यह ललित निबंध है।) बहुत लोग कहते हैं - तुम पिटे। शुभ ही हुआ। पर…

Continue Reading पिटने-पिटने में फर्क(व्यंग्य)

अपनी अपनी बीमारी(व्यंग्य )

हम उनके पास चंदा माँगने गए थे। चंदे के पुराने अभ्यासी का चेहरा बोलता है। वे हमें भाँप गए। हम भी उन्हें भाँप गए। चंदा माँगनेवाले और देने वाले एक-दूसरे के शरीर की…

Continue Reading अपनी अपनी बीमारी(व्यंग्य )