अनिल कुमार सोनी 2018-02-25T19:25:20+00:00

अनिल कुमार सोनी

Posts

  • प्रगति

    पीढ़ी परिवर्तन समाप्त हुआ सत्ता कब्जा हाथ आया विकास हुआ बारिश में बह गया  ... Read More »
  • कारण से

    वे कारण से अकारण ही कारण बन गये कौम है कारण को का रण में... Read More »
  • टूटता आदमी

    टूटता आदमी सदियों से संभलते देखे गये संभला नहीं दो के चार हो गये चार... Read More »
  • मुक्त नहीं संयुक्त हैँ

    एकता अखण्डता के लिए युक्त मुक्त नहीं संयुक्त होना है आवाज दबा के आवाज बुलंद... Read More »
  • फरिश्ता

    मानव की आदत है ये धर्म में भाग लेने की राह सिर्फ धर्म ही बता... Read More »
  • चाहत

    चाहत में भूले लोग सरलता से जा नहीं पाते रोगी भी है कष्टों का आसानी... Read More »
  • आंखों से आंसू नहीं अब

    शहीदों की अंद्रूनी व्यथा पढकर /देखकर/सुनकर आवेश सा आता है आंखों से आंसू नहीं अब... Read More »
  • क्या लिखूं

    क्या कुछ लिखें सब कुछ लिख चुका है पहले से ही हज़ारों साल के लेख... Read More »

 

Spread the love
  • 3.1K
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    3.1K
    Shares