Babli Sinha 2018-02-25T19:25:20+00:00

Babli Sinha

Posts

  • प्रेम

    यूं छोड़ चले जाना तुम्हारा कितना दर्द देता है दिल को दिल ही जाने…. किस... Read More »
  • प्रेम

    प्रेम जब अपने चरम पर आकर ठहरता है, तो इंसान बदला- बदला- सा नजर आता... Read More »
  • इच्छाएँ

    मन की इच्छाएं तंग लंबी गलियां-सी की भांति असीमित अनन्त-सी एक गली से दूसरी, दूसरी... Read More »
  • खामोशियाँ

    बड़ी उदास थी वो न जाने कौन-सा गम?? समेट रखा था, उसे आगोश में जबरन... Read More »
  • जीवन

    ये जीवन ! भावनाओं की बहती नदी है जहाँ एक ओर गर्भ में प्रेम और... Read More »
  • तुम्हारी अनुभूति

    बिस्तर पर लेटते सोने से कुछ क्षण पहले आंखे मूंदते ही टहलने लगता है मन... Read More »

 

Spread the love
  • 3.2K
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    3.2K
    Shares