विकास शर्मा 2018-01-14T15:26:11+00:00

विकास शर्मा

Posts

  • पैग़ाम

    दफ़्फ़ातन दिल को जो ये आराम आया है, शायद उसके जहन में मेरा नाम आया... Read More »
  • क़फ़स

    क़फ़स छोड़ इक रोज़ तो उड़ जाना है, जी ले प्यारे जब तल्क ये आबो-दाना... Read More »
  • नुक़्ता-ए-नज़र

    बज़्म तेरी, मुद्दा तेरा, नुक़्ता-ए-नज़र तेरा, ज़ाहिर सब पर हो गया तसुब मगर तेरा,  ... Read More »
  • नया रंग

    हज़ूर, आज ये क्या नया रंग दिखा रहे हो, छलक रही हैं आँखें और मुस्करा... Read More »
  • लम्हा

    इक मासूम मुहब्बत में भीगा हुआ लम्हा, याद रहा मुझे, हर साथ बीता हुआ लम्हा,... Read More »
  • तलब

    मुस्कराने की तलब हो रही है, बेइंतहा और बेसबब हो रही है,   गुस्ताखी ना... Read More »
  • किस्से-कहानी

    मुहब्बत के किस्से, वफ़ा की कहानी, ऐ इश्क सुन ले आज मेरी जुबानी,   हंस... Read More »
  • दिल की ख़लिश

    ये नहीं कि दिल की ख़लिश पिघल गई, रोने से तबियत ज़रूर थोड़ी संभल गई,... Read More »
  • आफतों का पुलिंदा

    उम्मीद-ए-वफ़ा की फितरत से शर्मिंदा हूँ मैं, ग़ज़ब कि दगा के हादसों के बाद ज़िंदा... Read More »

 

रचना साझा करें
  • 10
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    10
    Shares