hindilekhak 2018-01-14T15:26:11+00:00

hindilekhak

Posts

  • बेताल पच्चीसी 25

    पच्चीसवीं कहानी योगी राजा को और मुर्दे को देखकर बहुत प्रसन्न हुआ। बोला, “हे राजन्!... Read More »
  • वर्तनी क्विज-1

    Rate this item:1.002.003.004.005.00Submit Rating No votes yet. Please wait... Read More »
  • वर्तनी क्विज-2

    Rate this item:1.002.003.004.005.00Submit Rating No votes yet. Please wait... Read More »
  •  प्रेम

    प्रेम तो बस प्रेम है पर इसके रूप अनेक है देखो जानों और समझो तो... Read More »
  • मनोवृत्ति

    एक सुंदर युवती, प्रात:काल, गाँधी-पार्क में बिल्लौर के बेंच पर गहरी नींद में सोयी पायी... Read More »
  • रसिक संपादक

    ‘नवरस’ के संपादक पं. चोखेलाल शर्मा की धर्मपत्नी का जब से देहांत हुआ है, आपको... Read More »
  • गिला

    जीवन का बड़ा भाग इसी घर में गुजर गया, पर कभी आराम न नसीब हुआ।... Read More »
  • घासवाली

    मुलिया हरी-हरी घास का गट्ठा लेकर आयी, तो उसका गेहुआँ रंग कुछ तमतमाया हुआ था... Read More »
  • तावान

    छकौड़ीलाल ने दुकान खोली और कपड़े के थानों को निकाल-निकाल रखने लगा कि एक महिला,... Read More »
  • आखिरी हीला

    यद्यपि मेरी स्मरण-शक्ति पृथ्वी के इतिहास की सारी स्मरणीय तारीखें भूल गयीं, वह तारीखें जिन्हें... Read More »