hindilekhak 2018-01-14T15:26:11+00:00

hindilekhak

Posts

  • लांछन

    अगर संसार में ऐसा प्राणी होता, जिसकी आँखें लोगों के हृदयों के भीतर घुस सकतीं,... Read More »
  • अनुभव

    प्रियतम को एक वर्ष की सजा हो गयी। और अपराध केवल इतना था, कि तीन... Read More »
  • सुभागी

    और लोगों के यहाँ चाहे जो होता हो, तुलसी महतो अपनी लड़की सुभागी को लड़के... Read More »
  • शिकार

    फटे वस्त्रों वाली मुनिया ने रानी वसुधा के चाँद से मुखड़े की ओर सम्मान भरी... Read More »
  • कायर

    युवक का नाम केशव था, युवती का प्रेमा। दोनों एक ही कालेज के और एक... Read More »
  • धिक्‍कार

    अनाथ और विधवा मानी के लिये जीवन में अब रोने के सिवा दूसरा अवलंब न... Read More »
  • दिल की रानी

    जिन वीर तुर्कों के प्रखर प्रताप से ईसाई-दुनिया काँप रही थी, उन्हीं का रक्त आज... Read More »
  • ज्योति

    विधवा हो जाने के बाद बूटी का स्वभाव बहुत कटु हो गया था। जब बहुत... Read More »
  • झाँकी

    कई दिनों से घर में कलह मचा हुआ था। माँ अलग मुँह फुलाये बैठी थी,... Read More »
  • गुल्‍ली-डंडा

    हमारे अँग्रेजी दोस्त मानें या न मानें मैं तो यही कहूँगा कि गुल्ली-डंडा सब खेलों... Read More »