Jai Ram 2018-01-14T15:26:11+00:00

Jai Ram

Posts

  • निजाम

    तरही गजल :- करो वो काम कि दुनिया में नाम हो जाये। भले दुश्मन की... Read More »
  • फरिश्ता

    मैंने उनको याद बार बार कर लिया। लग रहा है हल्का कोई भार कर लिया।।... Read More »
  • एहसास

      मिलने का अगर यूंही इकरार किया होता। मैं तेरा कयामत तक इंतजार किया होता।।... Read More »
  • परिन्दे

    तरही गजल – उनकी यादों के परिन्दे…… जो चले जाते हैं दुनियाँ से वो फिर... Read More »
  • जख्म

    जख्म मेरा कहां सबको दिखाई देता है। मारने वाला इसी की सफाई देता है।। ऐसे... Read More »
  • इन्सान

    हम खुश थे अच्छा हुआ इन्सान हो गये। पर बाद में हिन्दू औ मुसलमान हो... Read More »

 

रचना साझा करें
  • 10
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    10
    Shares