Kavi Rajesh Purohit 2018-01-14T15:26:11+00:00

Kavi Rajesh Purohit

Posts

  • दोहे

    1.सप्ताह का दिन रविवार,काम होते है हज़ार। घर परिवार में गुज़ार, खुशियां मिले अपार।। 2.मौज... Read More »
  • ग़ज़ल

    अनाचार के इस पल में अब दुनियाँ झूंठी लगती है। आज मुक्कमल अच्छे दिन की... Read More »

 

रचना साझा करें
  • 10
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    10
    Shares