पुरुषोत्तम कुमार सिन्हा2018-02-25T19:25:20+00:00

पुरुषोत्तम कुमार सिन्हा

जन्मतिथि:
November 30, -0001

Posts

  • स्मरण

    स्मरण फिर भी मुझे, सिर्फ तुम ही रहे हर क्षण में …… मैं कहीं भी... Read More »
  • मेरी जन्मभूमि

    है ये स्वाभिमान की, जगमगाती सी मेरी जन्मभूमि… स्वतंत्र है अब ये आत्मा, आजाद है... Read More »
  • 15 अगस्त

    ये है 15 अगस्त, स्वतंत्र हो झूमे ये राष्ट्र समस्त! ये है उत्सव, शांति की... Read More »
  • उम्र की दोपहरी

    उम्र की दोपहरी, अब छूने लगी हलके से तन को… सुरमई सांझ सा धुँधलाता हुआ... Read More »
  • त्यजित

    त्यजित हूँ मै इक, भ्रमित हर क्षण रहूँगा इस प्रेमवन में। क्षितिज की रक्तिम लावण्य... Read More »
  • श्रापमुक्त

    कुछ बूँदे! … जाने क्या जादू कर गई थी? लहलहा उठी थी खुशी से फिर... Read More »
  • रिमझिम सावन

    आँगन है रिमझिम सावन, सपने आँखों में बहते से… बूदों की इन बौछारों में, मेरे... Read More »
  • विरह के पल

    सखी री! विरह की इस पल का है कोई छोर नहीं….. आया था जीवन में... Read More »
  • अचिन्हित तट

    ओ मेरे उर की सागर के अचिन्हित से निष्काम तट…. अनगिनत लहर संवेदनाओं के उमरते... Read More »
  • जगने लगे हैं सपने

    वो ही सपने, पलकों तले फिर से लगे हैं जगने…….. स्वप्न सदृश्य, पर हकीकत भरे... Read More »

 

Spread the love
  • 3.2K
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    3.2K
    Shares

हिन्दी लेखक डॉट कॉम

सोशल मीडिया से जुड़ें ... 
close-link