Snigdha Rudra 2018-01-14T15:26:11+00:00

Snigdha Rudra

Posts

  • प्रेम की अभिव्यक्ति

    मिलन और विक्षोह की अद्भुत लीला, हृदय को याद आया तेरे मिलन की रैना, गोद... Read More »
  • प्रियतम

    दीर्घ-संचित हृदय लिए, मै नवयौवना , जाने किसे ढ़ूढ़ रही हूँ, मधुवन बीच विचरीत करते... Read More »
  • तब्बसुम तेरे प्यार का

    गिरती बुँदे तरूओ से छन कर, मेरे मुख-मण्डल को भिगो रही है, मधूर उषा की... Read More »
  • मेरा प्रियतम

    दीर्घ-संचित हृदय लिए मै नवयौवना, जाने किसे ढ़ूढ़ रही हूँ, मधुवन बीच विचरते करते मेरे... Read More »
  • शव-यात्रा

    कंधो पर जाती एक शव-यात्रा, देती है हमे वो सच्चाई का जीता-जागता उदाहरण, जिसे जानकर... Read More »