हिप हिप हुर्रे

पिछले एक घंटे से उसके हाथ मोबाइल पर जमे हुए थे। पबजी गेम में उसकी शिकारी निगाहें दुश्मनों को बड़ी मुश्तैदी से साफ कर रहीं थी। तकरीबन आधे घंटे की मशक्कत के बाद वो…

Continue Reading हिप हिप हुर्रे

कहानी- कल्याणी

जैसे-तैसे शादी का दिन भी आ गया । एक हफ़्ते से घर में चहल-पहल थी । रेशमा चाची, संतोष ताई जी और बाऊ जी की बहनें रज्जो देवी, शंकुतला देवी भी आ पहुंची । हल्दी रस्म पूरी हुई और शादी से ठीक एक दिन पहले घर में माता रानी का जागरण रखा गया जिसमें अड़ोस-पड़ोस के लोग और दूरदराज के मेहमान, व्यापारी, व्यवसायी, हमारे दोस्त सभी शामिल हुए ।

Continue Reading कहानी- कल्याणी

जीवन

जीवन कहता जाय कहानी , कुछ अनजानी कुछ पहचानी। रंग रंग के किरदारों से , आगे कथा बढ़ाए। बस दम लेने को ठहरे फिर, घटना चक्र घुमाए। कभी लगे नूतन नव कोरी ,…

Continue Reading जीवन

बीते हुए दिन -1

याद बहुत आयें वो बचपन वाले दिन खेल खिलौनों के संग साथ बिताने वाले दिन गली मोहल्ले सब की चाहत वाले दिन न झगड़े और लड़ाई न टेंशन वाले दिन याद बहुत आयेें…

Continue Reading बीते हुए दिन -1

नानी मां

नानी मां नानी मां कहानी नई सुनाओ ना बंदर बिल्ली की कहानी से हम बहलाओ ना नानी मां नानी मां कहानी नई सुनाओ ना 🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃 खट्टे हैं अंगूर बताकर लोमड़ी सा फुसलाओ ना…

Continue Reading नानी मां