रोमांटिक दोहे

रोमांटिक दोहे प्रीतम ऐसा हाल जी,नयन हुए जो चार। उजड़े गुलशन लौट के,बहार लाई प्यार।।   प्रीतम मिलना नैन का,बने …