विश्व गुरु भारत 

मिले विश्व-गुरु का ताज़ भारत को, करते हैं हम सब अर्चन, पर, हम जानते हैं  कि हम ही हैं , इसकी राहों में अड़चन। …