Warning: Declaration of QuietSkin::feedback($string) should be compatible with WP_Upgrader_Skin::feedback($string, ...$args) in /var/www/wp-content/plugins/ocean-extra/includes/wizard/classes/QuietSkin.php on line 12

Warning: session_start(): Cannot start session when headers already sent in /var/www/wp-content/plugins/userpro2/includes/class-userpro.php on line 197
जीवन Archives - हिन्दी लेखक डॉट कॉम

एक पल्लवी

परतापुर का चौराहा, यहां अनेक मिष्ठान की दुकानें ,और शुद्ध खोये की दुकान, बीच चौराहे पर एक विशाल पीपल का वृक्ष, जिसके तने से मोटी उसकी शाखाएं थी, और तने पर गुंथा हुआ…

Continue Reading

सूनापन

एक विवाहिता जिसने विवाहित जीवन की शुरुआत में ही अपने सुहाग को खो दिया उसके मन के भाव नैनो में सजाये थे कुछ ख्वाब समय की ठोकर ने उन सपनो को चकनाचूर किया…

Continue Reading

चन्द्रग्रहण

चाँद कहे धरा से थोड़ा सा तो खिसक ले, कर लूँ दीदार मैं भी अपने चमन का, अब कुछ घुटन सी होने लगी है मन पर, कहीं मैं होकर निढाल गिर ना जाऊँ…

Continue Reading

प्यार का रंग

बेहिसाब रंग हैं जीवन में बिखरे मुझे हल्के रंग ही अच्छे लगते हैं जो अपने से मेल खाये आसानी से मिल जाये मेरे रंग में उसका रंग घुल जाये दो रंग मिलकर कोई…

Continue Reading

तस्वीर

जीवन की तस्वीरें उतारती उतारती देखो मैं खुद एक तस्वीर बन गई क्या सम्भव है क्या असम्भव क्या सही है क्या गलत क्या मुखर है क्या मौन क्या शोर-शराबा है क्या निशब्द क्या…

Continue Reading