तू मेरी होकर भी मुझे लगती परायी है।

तेरी याद ही मुझको यहां खींच लाई है, तू मेरी होकर भी लगती मुझे परायी है। मैं खुद नही जानता …