मैं डरती हूँ

कभी यूँ ही रिश्ते बन जाने से,
तो कभी यूँ ही उनके टूट कर बिखर जाने से,
कभी अचानक किसी के आ जाने से,
तो कभी किसी के दूर चले जाने से,
मैं डरती हूँ