दुशवार 

Home » दुशवार 

क्या हम बदल गये

By | 2018-04-16T23:43:14+00:00 April 16th, 2018|Categories: गीत-ग़ज़ल|Tags: , , |

इन कायरो की बस्ती में रहना दुश्वार हो रहा है... कोई मुसलमां का तो कोई हिन्दु का तलबगार हो रहा है... जिनके साथ सुख दुख अपना बाँटते थे अब तक.... उन्हीं का हमारे जख्मों पर वार हो रहा है... जँहा [...]