फँस गई गीता सच झूठ के मायाजाल में

न्याय की अदालत में लगाई जाती है गुनहगारों को पुकार खड़ा कर कटघरे में दिलवाई जाती है गीता की कसम …

बुजुर्गों की दुआएँ।

तरही गजल :-बुजुर्गों की दुआ…. अगर चेहरा खिला है और मैं हूँ। बुजुर्गों की दुआ है और मैं हूँ।। मुहब्बत …