बिजली का मीटर

रात की सघन अनुभूति से बचते हुए किसी तरह सीसियर के दरवाजे पर दस्तक देते है, दरवाजा खुलते ही सीसियर को  एक लिफाफा भेट करते है, उधर से स्वीकृति धीमी फुसफुसाहट के स्वर उभरते है “कल किसी भी हालत मे शाम तक आपके घर मीटर लग जाएगा” फिर दरवाजा बंद हो जाता है ।