उस पार उतर जाना अच्छा…

मुक्तक…   घुंट घुंट के नित मरने से एक बार ही मर जाना अच्छा जो दुष्कर कार्य लगे पहले उसको …

कुछ बातें

  त्रिभंगी छंद की कविता “कुछ बातें” भेदी दीवारें,मानव हारें,बेतुक नारे,दुख भरते। जीवन में ख़ारा,मन हो भारा,तनाव लारा,हम डरते। राजनीति …

पुकार

* समूची मानव जाति के लिए प्रकाश स्तम्भ श्री गुरु नानकदेव जी महाराज के श्री-चरणों में सादर समर्पित है यह …