जंगल बुक अध्याय -1

ऊपर आसमान को चीरता हूआ मन की गति की रफ्तार से भी तेज सफेद दूधिया बादलों के नीचे घुरूम - घुरूम की आवजे निकालकर हवाई यात्रा कर रहा है

Continue Reading जंगल बुक अध्याय -1

बादल का टुकड़ा

तुम बहुत खूबसूरत हो आसमां से पिघलते किसी बादल के टुकड़े की तरह तुम्हारे देश में लगता है कभी सर्द हवायें बहती ही नहीं जो कभी बर्फ की तरह जमते नहीं हमेशा पिघले…

Continue Reading बादल का टुकड़ा