जीवन की हकीकत

जिम्मेदारियों के बोझ से कंधो को झुकाता गया,
सब कुछ पा लेने की जद्दोजहद मैं खुद को भुलाता गया|
ख्वाइशें हर मोड़ पर बढ़ती ही रहीं,
चिंताएं उसका दम घोटती ही रहीं|

बच्चों की परवरिश(पैरेन्टिंग)

[fusion_builder_container hundred_percent=”no” equal_height_columns=”no” menu_anchor=”” hide_on_mobile=”small-visibility,medium-visibility,large-visibility” class=”” id=”” background_color=”” background_image=”” background_position=”center center” background_repeat=”no-repeat” fade=”no” background_parallax=”none” parallax_speed=”0.3″ video_mp4=”” video_webm=”” video_ogv=”” video_url=”” video_aspect_ratio=”16:9″ …

एक पत्र पेरेंट्स के लिए

हैलो पेरेंट्स … बच्चों की  परवरिश को लेकर मुझे  कुछ  कहना है। आपके बच्चों को आप जैसा बनाते हैं, वह …