नीलकंठ

नीले आसमां से नीली बारिश ने सब कुछ नीला कर दिया नीले रंग से सब नहला दिया नीला रंग सब में भर दिया नीले रंग से सब रंग दिया नीला पानी नीले पहाड़…

Continue Reading

पथिक

थक गये हो क्या भिक्षु लाओ मैं तुम्हें सहारा दूं पथिक हैं हम दोनों एक ही भक्ति मार्ग के लाओ इस पथरीले पथ पर मैं तुम्हें तरुवर सी घनेरी छाया दूं। मीनल

Continue Reading
Close Menu