क्यों कहते हैं?

चाय की दुकान पर नये-पुराने ग्राहकों के बीच एक ऐसा ग्राहक कुक्कू जिसे दोबारा कभी उस जगह नहीं आना था। …

है महाराणा महान, है भारत महान

हल्दीघाटी के युद्ध में महाराणा ने, दुश्मनों के खून से होली खेला था। काट-काट कर सिर को उनके, अकबर के …

विश्व गुरु भारत 

मिले विश्व-गुरु का ताज़ भारत को, करते हैं हम सब अर्चन, पर, हम जानते हैं  कि हम ही हैं , इसकी राहों में अड़चन। …

कला में संतुलन की कला

“लाइफ इज़ नॉट फेयर”, ये प्रचलित कहावत है। मैंने पहले कई बार कलाकारों की दयनीय स्थिति पर बात रखी है। आज एक अलग सिरे से विचार रख रहा हूँ।  कलाकार अगर प्रख्यात हो जाये तो जीवन सही है

सड़ता हुआ मांस क्या कहेगा?

अपने रचे पागलपन की दौड़ में परेशान समाज की कुत्सित मानसिकता “अच्छा-अच्छा मेरा, छी-छी बाकी दुनिया का” पर चोट करती …

किसका भारत महान?

पैंतालीस वर्षों से दुनियाभर में समाजसेवा और निष्पक्ष खोजी पत्रकारिता कर रहे कनाडा के चार्ली हैस को नोबेल शांति पुरस्कार …