दिल की लगी…

मोहब्बत का मातम मानाने चला हूँ दिल की लगी आज बुझाने चला हूँ तडपता है दिल ये तेरी याद बनकर i रोता है मजबूर औ बेकार बनकर ii वही राज में आज बताने…

Continue Reading
Close Menu