मुस्कान

Home » मुस्कान

तेरे मेरे  अधरों  पर  हरदम  बस  यों  ही  मुस्कान  रहे ।

By | 2018-02-12T08:30:37+00:00 February 12th, 2018|Categories: कविता|Tags: , , |

सूरत सुहानी  देख  तुम्हारी  भूल  गए  हम तो  रब  को । तेरा  चेहरा  याद  रहा  बस  भूल  गए  हम [...]

तेरी खामोशी (अहसासों की झलक)

By | 2018-03-12T22:02:38+00:00 December 3rd, 2017|Categories: अन्य, कविता|Tags: , , |

तेरी खामोशी (अहसासों की झलक) तेरी प्यासी निगाहों कि कसक यूँ झलके, के जैसे  शोख़ निगाहें बेसब्री से इंतेज़ार [...]