क्या यही प्यार है 

महंगे कपडे, गहने देना ही प्यार नहीं है। मेरे पति मेरे साथ जानवरों जैसा सुलूक करते हैं। जब मन करता है गाली देते है, जब मन करता है शारीरिक शोषण

सारी उम्र गवां दी

किस पर ऐतबार करें यहाँ किसको अपना माने हम
हर तरफ़ झूठ का कारोबार है फ़रेबी भरे पड़े हैं ज़माने में ..