बरसात की ताज़ी झरोखें

दिल मे आग लगया कुछ इस तरह उसने। बरसात के मौसम में हम जल के राख बन गए।। ----------------------------------- हम बैठें थे उनके इंतजार में।। वो आयी और हाथ हिलाए।। मुस्कुराई और चल…

Continue Reading

वो बहाना छोड़ दे

गजल... कोई उनसे कह दे हमको आजमाना छोड़ दे इस तरह से प्यार मे हमको सताना छोड़ दे ! अर्जमन्दी ने मेरी उनको बना जीवन लिया मेरी उल्फत को अजल करना मिटाना छोड़…

Continue Reading

स्वप्न

स्वप्न... पौ फटी िकलकारियां पूरब दिशा से आ रही मलयानील से महकती हवा मुझे जगा रही ! उठो मतिहीन समय व जमाना बदल गया हर एक दिल में प्यार का दिपक सा जल…

Continue Reading

मूक संवाद

ये मेरे बेटे अभिमन्यु के होने वाले बच्चे से मूक संवाद है,जो अभी तक इस दुनिया में आया भी नहीं था। मैं एक यात्रा पर थी, यूं तो, उस बच्चे के आने में…

Continue Reading

बारिश और बचपन

बारिश, मिट्टी की खुशबू, कागज की कश्ती... बारिश में भीगने पर बच्चे को डांट रहे पिता को देख, अपने बचपन के गलियारों का चक्कर लगा आई..... मैं अपनी बालकनी में बारिश का शोर…

Continue Reading

विचारों का टकराव

अपने बच्चों के साथ व्यवहार करते हुए कई बार हमे बहुत इम्तहानो से गुजरना पडता है।परिवर्तन तो समय का नियम है।जो बात हमारे नजरिये मे सही हो ,हो सकता है समय ने उसके…

Continue Reading

हाईटेक ओल्ड एज होम

संदीप "नीलू आज शनिवार है कल सुबह जल्दी तैयार हो जाना हम तुम्हारी मम्मी से मिलने चलेंगे |" नीलू "अरे संदीप क्या बात है मेरे घर में जाने की इतनी उत्सुकता मैंने पहली…

Continue Reading

जिद्द

सिमरन तीन भाई बहनों में सबसे छोटी थी। 12 वर्ष की सिमरन घर में सबसे दुलारी भी थी। परिवार की आर्थिक स्थिति खराब न थी किंतु सिमरन के पिता के ऊपर संयुक्त परिवार…

Continue Reading

संघर्ष

संघर्ष... जीवन में संघर्ष इस कदर करो, अपना सपना पूरा करके मरो। जीवन को संघर्ष बना लो, संघर्ष को ही जीवन बना लो ।1। विद्यार्थी हो तो विद्या ऐसी प्राप्त करो, बुद्धि,बल,मेहनत से…

Continue Reading
  • 1
  • 2
Close Menu