भूमंडलीकरण में कहीं खो ना जाए ग्रामीण मासूमियत (बालगीत)

दा मामा दूर के, पुए बनाएं गुड के,
आप खाएं थाली में, चीकूगुड्डो को दे प्याली मे…

उनकी शादी और आशिकों का सबके हाल

उनके जाने के बाद किसी की याद आयी होगी।।
उनके जाने के बाद एक घर सुनसान हुआ होगा।।

बरसात की ताज़ी झरोखें

दिल मे आग लगया कुछ इस तरह उसने। बरसात के मौसम में हम जल के राख बन गए।। ———————————– हम …

बारिश और बचपन

बारिश, मिट्टी की खुशबू, कागज की कश्ती… बारिश में भीगने पर बच्चे को डांट रहे पिता को देख, अपने बचपन …