सावन

Home » सावन

नींव के पत्थर

By | 2018-03-04T14:40:58+00:00 March 4th, 2018|Categories: कविता|Tags: , , |

(जिन भव्य भवनों, ऊंची अट्टालिकाओं, महलों - राजप्रसादों के शिखर - कंगूरे आकाश से बातें कर रहे हैं, उन्हीं [...]

साजन आए, सावन आया

By | 2018-02-11T17:01:21+00:00 February 8th, 2018|Categories: कविता, हरिवंश राय बच्चन|Tags: , , |

अब दिन बदले, घड़ियाँ बदलीं, साजन आए, सावन आया। धरती की जलती साँसों ने मेरी साँसों में ताप भरा, [...]