यूकेलिप्टस, कौवे और मैं

हर रात जैसे तैसे करवटें ले लेकर गुजरती। हर रात सुबह का इंतजार, हर सुबह जेठ की भरी दुपहरी का इंतजार, हर दोपहर शाम होने का इंतजार, हर शाम रात होने का इंतजार…

Continue Reading

इश्क समंदर

तेरे साथ बिताए हुए हर लम्हे से प्यार हो गया, तेरे साथ एक पल का रिश्ता नही, जन्म जन्मजांतर का रिश्ता बन गया, तुम्हारे बिना अधूरी ये ज़िन्दगी लगती है, तेरे बिना एक…

Continue Reading

पत्र जो तुम पढ़ नही पाओगी

विषयवस्तु- प्रेम पत्र Letter for you ******* आज एक पत्र फिर लिखने के लिए बैठा हूँ, हा तुम्हें ही लिखूंगा । पर ये भी जानता हूं, तुम इसको समझ ही नही पाओगी। कही…

Continue Reading
Close Menu